14 नवंबर को राजस्थान विधानसभा में होगी चिल्ड्रन पार्लियामेंट

62

फ्यूचर सोसाइटी और एलआईसी द्वारा प्रायोजित रचनात्मक मंच ‘डिजिटल बाल मेला2021’ का आगाज आज हो चुका है। देश के पहले बाल मेला सीजन2 का स्वागत राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने किया। एक बार फिर इस मंच का आरंभ करते हुए सीपी जोशी ने डिजिटल बाल मेला के पोस्टर को लॉन्च किया और साथ ही बच्चों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस मंच से जुड़ने के लिए अपील की। नन्हें बच्चों की प्रतिभा का गुणगान करते हुए और उन्हें शुभकामनाएं देते हुए डॉ सीपी जोशी ने कहा कि उन्हें इस बात की बेहद खुशी हैं कि इस मंच के जरिए देश में बच्चे अपनी सरकार के लिए विचार प्रकट करेंगे। ‘डिजिटल बाल मेला 2021’ के धूमधाम से शुभारंभ के साथ ही इस मंच की परिकल्पना करने वाली जाहनवी शर्मा ने बच्चों द्वारा बनाया गया वीडियो डॉ सीपी जोशी को दिखाया। जिसे जारी करते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने कहा कि ये बच्चों की रचनात्मकता को बढ़ाने वाला अनुठा प्रयास है।

Jhanvi Sharma

14 नवंबर को जयपुर में आयोजित होगा पहला अधिवेशन:
‘डिजिटल बाल मेला सीजन2’ में बच्चों का मनोबल बढ़ाने और उन्हें राजनीति में प्रवेश की हार्दिक बधाईयां देने के ​साथ ही विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी ने बच्चों से वादा किया कि बच्चों की सरकार का पहला अधिवेशन आगामी बाल दिवस यानी 14 नवंबर को जयपुर में आयोजित किया जाएगा।जैसा कि विदित है बाल मेला सीजन 2 में बच्चे सीधे सरकार से रूबरू होंगे तो वही आने वाले दिनों में बच्चें किस तरह की सरकार चाहते हैं इस ओर वो सरकारों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करेंगे।

बालमन के विचारों का होगा सम्मान,संसदीय लोकतंत्र में भूमिका निभाएंगे बच्चे:
बाल मेला सीजन2 के जरिए संसदीय लोकतंत्र में अपना योगदान देने जा रहे बच्चों के लिए सीपी जोशी ने कहा —किसी भी संसदीय लोकतंत्र में यह आवश्यक होता है कि देश के भावी नागरिक अपनी समस्याओं का ध्यान सरकार की ओर आकर्षित करें। हालांकि हमारे अपने संसदीय लोकतंत्र में अभी उन्हें स्थान नहीं दिया गया है। ऐसे में अभिव्यक्ति के माध्यम से हम उन बच्चों के विचारों को समझ सकेंगे। उन्होंने आगे कहा कि ये बच्चे बड़े होकर आगे यह समझ सकेंगे कि जो विचार उनके बालमन में थे, वे बड़े होकर आगे सरकार में अपनी समस्याओं को कैसे रख सके। साथ ही देश के भविष्य की नीतियां बनाने में बच्चों के विचारों को जानना बेहद जरूरी है।

बच्चों की क्रिएटिविटी का अद्भूत मंच है ‘डिजिटल बाल मेला’
बाल मेला का उद्घाटन करते हुए सीपी जोशी ने कहा कि कोरोना महामारी के बच्चे घरों पर ही रहने को मजबूर हो गए। ऐसे में यह जरूरी है कि अब इन बच्चों की क्रिएटिविटी को समाज के सामने लाया जाए। कोई भी स्वस्थ लोकतंत्र इन बच्चों के विचारों और क्रिएटिविटी को स्थान दें तो यह अपने आप में एक अद्भूत बात होगी। डॉ जोशी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी वर्षों बाद आई हैं। ऐसे में इस महामारी के दौरान बच्चों की संवेदनाओं को स्थान मिलना आवश्यक है।

गौरतलब है डिजिटल बाल मेला सीजन—1 के समापन पर विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने लिटिल कोरोना वॉरियर्स को टास्क देते हुए कहा था कि अगले बाल मेले में बच्चे उन्हें बताएं कि बच्चों की सरकार कैसी होनी चाहिए। अब बच्चे उनके इसी टास्क को पूरा करने जा रहे हैं।

60 दिन चलेगा डिजिटल बाल मेला का महाअभियान:
आज से शुरू हुआ डिजिटल बाल मेला2021 का ‘बच्चों की सरकार कैसी हो’ महाअभियान 15 जून से शुरू होकर 15 अगस्त तक चलेगा। जिसमें हर रोज बच्चों को राजस्थान के कई कैबिनेट मंत्री, विधायक, सांसदों से सीधे रूबरू होने का अवसर मिलेगा। इस सीजन में ना सिर्फ देश की हस्तियां बल्कि विदेशी राजनैतिक हस्तियां भी बच्चों संग सीधा संवाद करेंगी।

यूं कर सकते हैं बाल मेले में पार्टिसिपेट और जीत सकते हैं प्राइज
डिजिटल बाल मेला प्रतियोगिता में रजिस्ट्रेशन—अवार्ड या अन्य जानकारी के लिए मेले की आधिकारिक वेबसाइट, व्हाट्सएप्प, फेसबुक पेज, इंस्टाग्राम पर संपर्क कर सकते हैं। मेले की वेबसाइट www.digitalbaalmela.com है और व्हाट्सएप्प नंबर 8005915026 हैं।

इस गू्गल लिंक के जरिए जुड़ सकते हैं बच्चे
देश के किसी भी हिस्से से बच्चे’डिजिटल बाल मेला सीजन-2′ से जुड़ सकते है। जिसके लिए बच्चें इस https://meet.google.com/ysn-pfjh-shh  गूगल लिंक पर क्लिक करें। इस लिंक के जरिए बच्चे हर दिन होने वाले सेशन में शामिल हो सकते है और मंत्रियों से अपने मन की बात कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here