LSAT-INDIA प्रवेश परीक्षा जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल में 25 मार्च 2021 को आयोजित की जाएगी।

80

LSAT – INDIA भारत की पहली विधि प्रवेश परीक्षा है जो शैक्षणिक वर्ष 2021-22 के लिए आयोजित की जा रही है। इसके पहले चरण के लिए 14 मार्च 2021 को आवेदन बंद हो जाएगा। छात्र घर से टेस्ट दे सकते हैं: LSAT-India 2021 ऑनलाइन, रिमोट-प्रोक्टर्ड और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से संचालित लॉ एंट्रेंस टेस्ट है।
ओ पी जिंदल ग्लोबल इंस्टीट्यूशन ऑफ एमिनेंस डीम्ड टू बी यूनिवर्सिटी (JGU) के जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल (JGLS) में प्रस्तावित सभी शैक्षणिक कार्यक्रमों के लिए प्रवेश प्रक्रिया 1 फरवरी, 2020 से शुरू हो गई है। JGLS, जिसे भारत और दक्षिण एशिया में क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी सब्जेक्ट रैंकिंग के अनुसार नंबर 1 लॉ स्कूल का दर्जा दिया गया है। इस लॉ स्कूल में 5 कार्यक्रम हैं: बीए एलएलबी (ऑनर्स), बीबीए एलएलबी (ऑनर्स) और बीए (ऑनर्स) जो की 12वीं कक्षा के बाद पढ़े जाने वाले विधि पाठ्यक्रम हैं; स्नातक के बाद एलएलबी 3-वर्षीय कार्यक्रम और एलएलबी के बाद विभिन्न विशेषज्ञता में एलएलएम कार्यक्रम हैं।
प्रोफेसर (डॉ.) सी. राज कुमार, संस्थापक कुलपति, ओपी जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी और डीन, जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल, ने आगामी शैक्षणिक वर्ष के लिए प्रवेश प्रक्रिया की घोषणा करते हुए कहा – “जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल के प्रवेश प्रक्रिया को शीघ्र करने पेशकश करने का निर्णय, तीन कारणों से एक महत्वपूर्ण निर्णय है।”
प्रोफेसर कुमार ने कहा, “सबसे पहले, यह एक प्रारंभिक प्रवेश प्रक्रिया है। 12 वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं को लिखने वाले छात्रों को प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी साथ साथ करने में हर साल मुश्किल आती है। इस वर्ष छात्र LSAT-India 2021 को जल्दी दे सकते हैं और लॉ स्कूल में अपने प्रवेश को सुरक्षित कर सकते हैं एवं अपनी बोर्ड परीक्षाओं को पूर्ण शांतिपूर्ण स्थिति में लिख सकते हैं। “
प्रोफेसर कुमार ने कहा, ” विधि के उम्मीदवारों के लिए अपने स्कोर में सुधार करने का अतीत में कोई अवसर नहीं था। विधि की प्रवेश परीक्षा हमेशा साल में एक मौका होती थी। यदि किसी भी छात्र के लिए एक परीक्षा का दिन बुरा साबित होता, तो आप उस वर्ष के लिए अपना मौका हमेशा के लिए खो देते हैं। अब, छात्रों को अपने स्कोर को बेहतर करने और प्रवेश लेने के लिए जून 2021 में दूसरा मौका मिलता है, अगर वे मार्च की परीक्षा में अच्छा नहीं कर पाते हैं। “
इस वर्ष छात्रों को अपना स्कोर सुधारने का एक और मौका मिलेगा और 2021 में कट-ऑफ अधिक होने के बावजूद दाखिले के लिए दूसरा अवसर मिल सकता है।
जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल के निदेशक लॉ एडमिशन और एसोसिएट डीन प्रोफेसर आनंद प्रकाश मिश्रा ने कहा, ” JGLS ने संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, सिंगापुर, हांगकांग, चीन, आदि में कई प्रमुख अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालयों के स्नातकों को आकर्षित किया है। हमारा शैक्षणिक वर्ष 1 अगस्त 2021 से शुरू होता है और छात्रों और अभिभावकों के लिए पर्याप्त समय उपलब्ध होगा, ताकि वे विधि स्कूल में प्रवेश ले सकें। “
LSAT – इंडिया टेस्ट भारत में वर्ष 2009 में शुरू किया गया था जब जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल ने अपना पहला शैक्षणिक वर्ष शुरू किया था। यह यूएसए के पेंसिल्वेनिया में स्थित लॉ स्कूल एडमिशन काउंसिल (LSAC) के स्वामित्व में है और प्रशासित है। LSAC दुनिया का पहला कानून प्रवेश परीक्षा संगठन है और 1947 से, यूएसए, कनाडा और ऑस्ट्रेलिया में 200 से अधिक दुनिया के अग्रणी लॉ स्कूलों द्वारा उपयोग किए जाने वाले LSAT टेस्ट का आयोजन किया गया है। छात्र पिछले साल के प्रश्न पत्रों को मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं और LSAT – INDIA 2021 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण इसकी आधिकारिक वेबसाइट www.discoverlaw.in पर कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here