घर में पड़ी है बेटी और पत्नी की लाश:कल से अब तक नहीं आया एंबुलेंस

25

पटना:कोरोना संक्रमण के इस दौर में मानवता खत्म होने के कगार पर है। कोई किसी की मदद नहीं कर रहा है। पटना के बेउर थाना इलाके में राजेंद्र प्रसाद दो डेडबॉडी के पास पड़े हुए हैं। लेकिन, कोई उठाने के लिए नहीं आ रहा है। शुक्रवार दोपहर से अब तक एंबुलेंस नहीं पहुंचा है। 5 साल पहले सचिवालय से रिटायर राजेंद्र प्रसाद इतना परेशान हैं कि कहीं उनकी भी मौत न हो जाए। BDO को भी कॉल किया गया। लेकिन, कोई मदद नहीं मिली।

मौत की वजह का खुलासा नहीं…..

पड़ोसियों की मदद से वे स्थानीय थाने भी गए। वहां कहा गया कि इस मामले में हम कुछ नहीं कर सकते हैं। राजेंद्र प्रसाद की 32 साल की बेटी वंदना कुमारी की शुक्रवार दोपहर 2 बजे के करीब मौत हो गई। इसके 2 घंटे बाद 4 बजे पत्नी चिंतामणी देवी की भी जान चली गई। दोनों डेडबॉडी घर में ही है। उसे श्मशान तक पहुंचाने वाला कोई नहीं है। रिटायर्ड राजेंद्र प्रसाद शुक्रवार से ही डेडबॉडी के पास पड़े हुए हैं। एंबुलेंस के लिए तमाम कॉल कर लिया गया। लेकिन कोई नहीं पहुंचा। पिछले कुछ दिनों से बेटी और पत्नी को सर्दी और खांसी थी। हालांकि, दोनों की मौत किस वजह से हुई है। इसका खुलासा नहीं हुआ है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here